लौंग खाने के फायदे : Benefits of Eating Cloves In Hindi

कैसे है दोस्तो, आज हम आपको लौंग (Cloves) खाने के फायदे क्या क्या है उसके बारेमे बताने वाले है। हम हर रोज लौंग खाते है। कभी चावल मे तो कभी किसी सब्जी मे डालकर। लौंग को किसी खाने मे डाल दिया जाए तो उसकी खुस्बू ही इतनी मस्त आती है की खाने मे मजा आ जाए। लौंग औषधीय गुणों से भी भरपूर होती है। इसे नियमित रूप से लेने से कई स्वास्थ्य समस्याएं दूर हो सकती हैं। आइए हम लौंग (Cloves) खाने के फायदे के बारेमे जानते है। 

लौंग खाने के फायदे : Benefits of Eating Cloves In Hindi



जानिए लौंग खाने के फ़ायदों के बारेमे : 

रोज रात को लौंग खाने के होते हैं फायदे:

लौंग एक आयुर्वेदिक तत्व है जिसे हम कभी भी खा सकते हैं। लौंग का इस्तेमाल ज्यादातर खाने में किया जाएगा। अगर हम रात को सोने से पहले 2 लौंग अच्छी तरह से खाते हैं और फिर अगर हम 1 गिलास गर्म पानी पिएं तो यह हमारे शरीर को कई तरह से फायदा पहुंचा सकता है। ऐसा करने से कब्ज, पेट दर्द, गैस और एसिडिटी जैसी पाचन संबंधी समस्याओं से राहत मिलती है।


आप लौंग का काढ़ा भी बना सकते हैं:

अगर आप लौंग को चबाकर नहीं खा सकते हैं, तो आप इसे अच्छे से पीस भी सकते हैं और फिर 1 गिलास पानी में लौंग का पाउडर डालें और 2-3 मिनट तक उबालें और फिर इसे सामान्य रूप से ठंडा होने के बाद उसे पिए। यह आपको कई स्वास्थ्य लाभ भी देगा। अगर बच्चों को कब्ज या सर्दी की समस्या हो तो 1 लौंग को अच्छी तरह से कुचल कर उसमें आधा चम्मच शहद मिलाकर बच्चों को पिलाएं। इससे इसमे राहत मिलती है।


मुंह की दुर्गंध भी दूर होती है:

अगर आप मुंह की बदबू से परेशान हैं तो रात को सोने से पहले लौंग खाना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। अगर आपको गले से संबंधित कोई समस्या है जैसे की गले में खराश, गलें मे दुखना जैसी तो इन समस्याओ को भी लौंग दूर कर सकता है। रात को सोने से पहले 2 लौंग खा लें और फिर 1 गिलास गर्म पानी पी लें। इससे आपके गले मे राहत मिलेगी। 


दांत दर्द दूर हो जाता है:

अगर आपके दांत में दर्द या दांतों में सड़न है तो भी रात को सोने से पहले 2 लौंग अच्छी तरह खा लें। फिर 1 गिलास गर्म पानी पिएं। लौंग खाने से शरीर में रोगों से लड़ने की क्षमता बढ़ती है। इसके सेवन से सिर दर्द की समस्या भी दूर होती है।


दोस्तो ऊपर दी गई जानकारी 100 प्रतिशत फायदा होगा ऐसा कहा नहीं जा सकता। अगर आपको कोई गंभीर बीमारी है तो आपको इस तरह के नुस्खे की बजाय आप डाक्टर के पास जाकर सलाह और दावा भी ले सकते है। यह आयुर्वेद उपचार है। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ